24.3 C
Dehradun
Friday, August 14, 2020
Home National News Uttarakhand: कोरोना वैक्सीन के लिए NIV ने मांगे 30 बंदर, महाराष्ट्र...

News Uttarakhand: कोरोना वैक्सीन के लिए NIV ने मांगे 30 बंदर, महाराष्ट्र के जंगल से पकड़ने का काम शुरू – Coronavirus lock down niv asked 30 monkey for vaccine maharashtra government ordered to catch

  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने 30 बंदर मांगे
  • कोरोना वैक्सीन विकसित करने के लिए मांगे गए बंदर

कोरोना वायरस का कहर देशभर में जारी है. लॉकडाउन के बाद अब केंद्र सरकार ने अनलॉक-1 की भी घोषणा कर दी है. ऐसे में मरीज बढ़ने के साथ कोरोना की वैक्सीन की मांग और तेज हो गई है. पुणे में स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भी कोरोना वैक्सीन पर खोज कर रहा है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने कोरोना वैक्सीन पर रिसर्च के लिए 30 बंदरों की मांग की है. इंस्टीट्यूट ने महाराष्ट्र वन विभाग से वैक्सीन के लिए बंदर उपलब्ध कराने के लिए कहा है. इन बंदरों को महाराष्ट्र से पकड़ा जाएगा. महाराष्ट्र के वन मंत्री संजय राठौड़ ने मांगे गए बंदरों को उपलब्ध कराने के लिए एक ऑर्डर भी जारी कर दिया है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

बंदरों को उपलब्ध कराने की अनुमति कई शर्तों के साथ जारी की गई है. इसमें शर्त है कि इन बंदरों को पूरी तरह ट्रेंड स्टाफ के द्वारा ही पकड़ा और सौंपा जाएगा. इन्हें पकड़ने के दौरान किसी भी जानवर को हानि नहीं पहुंचाई जाएगी. इसके अलावा इन्हें पकड़ने के लिए किसी भी जानवर की दिनचर्या को प्रभावित नहीं किया जाएगा और इनका उपयोग व्यावसायिक उद्देश्य के लिए नहीं किया जाएगा.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

कोरोना के लिए रेमडेसिविर दवा के इस्तेमाल को मंजूरी

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने रेमडेसिविर दवा के इस्तेमाल करने को मंजूरी दे दी है. इबोला के इलाज में काम आने वाली रेमडेसिविर एकमात्र ऐसी दवा है जो कोरोना के इलाज में बेहद असरदायी नजर आ रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



[Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by News Uttarakhand. Publisher: Aaj Tak]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

रुद्रप्रयाग: जखोली ब्लॉक प्रमुख प्रदीप थपलियाल ने आपदा प्रभावित गांवों की मद्दद के लिए आगे आये साथ ही अधिकारियों को राहत वितरण के दिए...

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में गदेरे (बरसाती नाले) में आज सोमवार को बादल फटने से व्यापक तबाही हो गई है। बादलों की इस आपदा में...

सिविल सेवा परीक्षा में छाए उत्तराखंड के होनहार, रामनगर के शुभम ने हासिल किया 43वां स्थान

संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में उत्तराखंड के युवाओं का डंका बजा है। रामनगर निवासी शुभम बसंल ने परीक्षा में ऑल...

पहाड़ों में भी साइबर अपराधी तलाशने लगे शिकार, बचना है तो इन बातों का रखें ख्याल

साइबर अपराधी अब तक धनाढ्य वर्ग या फिर नौकरीपेशा को ही शिकार के लिए चुनते थे। मगर इंटरनेट और डिजिटल पेमेंट के प्रति बढ़ी...

रक्षाबंधन से पहले लद्दाख बॉर्डर पर शहीद हुए भाई को तिरंगे में लिपटा हुआ पार्थिव शरीर देखकर बिलख पड़ी बहन

उत्तराखंड: लद्दाख में शहीद हुए उत्तराखंड के लाल देव बहादुर का ग्राम गोरीकलां के निकट शमशान घाट पर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार...

Recent Comments

Translate »