24.3 C
Dehradun
Sunday, August 9, 2020
Home National News Uttarakhand: दिल्लीः बच्चों के यौन उत्पीड़न में लिप्त अंतरराष्ट्रीय रैकेट का...

News Uttarakhand: दिल्लीः बच्चों के यौन उत्पीड़न में लिप्त अंतरराष्ट्रीय रैकेट का भंडाफोड़ – Delhi cbi children sexual harassment international racket disclosure busted raid crime

  • अज्ञात आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में केस दर्ज किया गया
  • नाबालिगों के यौन उत्पीड़न पर आधारित वेबसाइट का संचालन

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने मंगलवार को नाबालिगों के यौन उत्पीड़न में संलिप्त एक अंतरराष्ट्रीय रैकेट का भंडाफोड़ किया है. यह रैकेट बच्चों के यौन शोषण से जुड़ी वेबसाइट का संचालन कर रहा था, जिसका पर्दाफाश करने के लिए सीबीआई ने राजधानी दिल्ली में छापेमारी की. कोरोना वायरस संकट के सामने आने और देश में लॉकडाउन लागू होने के बाद यह पहली बार है, जब केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने कोई छापेमारी की कार्रवाई की है.

केंद्रीय जांच एजेंसी ने नई दिल्ली के पश्चिम विहार स्थित एक निजी कंपनी, उसके निदेशकों और कुछ अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईटी एक्ट और प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस (POCSO) एक्ट की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज किया है. एफआईआर के अनुसार, आरोप है कि एक निजी कंपनी ने रूसी डोमेन की कुछ वेबसाइट का संचालन किया, जिस पर बच्चों के यौन शोषण से संबंधित आपत्तिजनक सामग्री मौजूद थी.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्लिक करें

सीबीआई ने कहा, “सर्वर्स की लोकेशन, आपत्तिजनक सामग्री का प्रसारण और वेबसाइट संचालन के आधार पर यह मामला भारत, नीदरलैंड और रूस से जुड़ा है.” इस मामले की जांच सीबीआई की ‘ऑनलाइन चाइल्ड सेक्सुअल एब्यूज एंड एक्सप्लोरेशन प्रिवेंशन/इन्वेस्टीगेशन (OCSAE)’ विंग कर रही है. यह विंग ऑनलाइन बाल यौन शोषण और इससे संबंधित मामलों के लिए बनाई गई एक विशेष इकाई है.

जांच एजेंसी के मुताबिक सीबीआई ने दिल्ली में आरोपियों के दफ्तर और निवास पर छापा मारा. आरोपियों में एक निजी कंपनी और इसके निदेशक शामिल हैं. छापेमारी में कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, दस्तावेज और अन्य सामग्री बरामद हुई है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्लिक करें

जांच एजेंसी को इस मामले में कुछ अन्य भारतीय लोगों के भी शामिल होने का शक है. एक सीबीआई अधिकारी ने कहा, “जिन्हें पकड़ा गया है, हम उन लोगों की पहचान का खुलासा करने की स्थिति में नहीं हैं, क्योंकि पहचान उजागर होने पर रैकेट में शामिल अन्य लोगों को बचने में मदद मिल सकती है.”

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS



[Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by News Uttarakhand. Publisher: Aaj Tak]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सिविल सेवा परीक्षा में छाए उत्तराखंड के होनहार, रामनगर के शुभम ने हासिल किया 43वां स्थान

संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में उत्तराखंड के युवाओं का डंका बजा है। रामनगर निवासी शुभम बसंल ने परीक्षा में ऑल...

पहाड़ों में भी साइबर अपराधी तलाशने लगे शिकार, बचना है तो इन बातों का रखें ख्याल

साइबर अपराधी अब तक धनाढ्य वर्ग या फिर नौकरीपेशा को ही शिकार के लिए चुनते थे। मगर इंटरनेट और डिजिटल पेमेंट के प्रति बढ़ी...

रक्षाबंधन से पहले लद्दाख बॉर्डर पर शहीद हुए भाई को तिरंगे में लिपटा हुआ पार्थिव शरीर देखकर बिलख पड़ी बहन

उत्तराखंड: लद्दाख में शहीद हुए उत्तराखंड के लाल देव बहादुर का ग्राम गोरीकलां के निकट शमशान घाट पर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार...

ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल लाइन पर सीएम ने की समीक्षा, आइये बताते है आपको इस विषय में :

ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल लाइन परियोजना पर बहुत ही तेजी से काम चल रहा है। लॉकडाउन में राहत मिलते ही इस, परियोजना के रुके हुए...

Recent Comments

Translate »