24.3 C
Dehradun
Monday, September 28, 2020
Home Uttarakhand News Uttarakhand: Car Fell Into Ditch And Scooty Accident In Nainital, Three...

News Uttarakhand: Car Fell Into Ditch And Scooty Accident In Nainital, Three Death On Holi – नैनीताल: होली मनाने गए थे, लेकिन हो गया दर्दनाक हादसा, युवक और पिता-बेटी की मौत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नैनीताल
Updated Wed, 11 Mar 2020 10:16 PM IST

ख़बर सुनें

उत्तराखंड के नैनीताल में होली के दिन दो जगह दर्दनाक हादसे ने तीन लोगों की जान ले ली। कोटाबाग में होली का त्योहार मनाने गए तीन दोस्तों की कार खाई में गिर गई। दो दोस्त तो जान बचाने के लिए कार से कूद गए, जबकि तीसरा कार के साथ खाई में गिर गया। इसके बाद तीनों खाई से निकलकर अस्पताल पहुंचे, जहां एक की हालत गंभीर होने पर उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया और उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

मंगलवार को कोटाबाग निवासी देवेंद्र बिष्ट (50) पुत्र स्व. शिव सिंह अपने दो साथियों यशपाल बिष्ट और योगेश बिष्ट के साथ अपराह्न करीब तीन बजे कार (यूए 07एच 2267) से घूमने गए थे। कोटाबाग से तीन किमी ऊपर सानडा के पास बैंड में अचानक चालक ने कार से नियंत्रण खो दिया और कार 300 मीटर गहरी खाई में गिरने लगी। इसी समय देवेंद्र और यशपाल ने कार से छलांग लगा दी, जबकि योगेश कार के साथ खाई में गिर गया।

बचने की कोशिश में देवेंद्र बिष्ट को गुम चोटें आईं और यशपाल सिंह और योगेश भी जख्मी हो गए। इसके बाद तीनों दोस्त गांव की एक निजी गाड़ी से सीएचसी गए, जहां डॉक्टर सलीम अंसारी ने तीनों का इलाज किया। उन्होंने बताया कि यशपाल और योगेश खतरे से बाहर हैं, जबकि सिर में चोट के चलते देवेंद्र की सांस की नली में खाना फंसने से उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। देवेंद्र ने हल्द्वानी में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

देवेंद्र सिंह उनके दो बेटे और एक बेटी हैं और वह मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते थे। बुधवार को देवेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार किया गया। पहाड़ पट्टी पटवारी आशा सक्सेना ने बताया कि हादसे की लिखित सूचना मिलने पर मामले की जांच पड़ताल की जाएगी।

होली मिलन के बाद घर लौट रहे पिता पुत्री की स्कूटी को बेकाबू कार ने टक्कर मार दी। हादसे में पिता की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बेटी ने काशीपुर के अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस के अनुसार दोनों ने हेलमेट नहीं पहना था। कार सवार वाहन को मौके पर छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने कार को कब्जे में ले लिया है।

टांडा मल्लू निवासी संतराम (40) मंगलवार को स्कूटी (यूके-04जी-8911) से हिम्मतपुर ब्लॉक में अपने दोस्तों के यहां होली मिलने गया था। उसके साथ तीन में पढ़ने वाली बेटी ममता (9) भी थी। दोनों दोपहर बाद जब होली मिलकर लौट रहे थे तो तेज रफ्तार कार (डीएल-9सीएएम-3637) ने सामने से उन्हें टक्कर मार दी। हादसे में संतराम की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि ममता गंभीर रूप से घायल हो गई। पुलिस ने बच्ची को काशीपुर के अस्पताल में भर्ती कराया। बुधवार को इलाज के दौरान ममता ने भी दम तोड़ दिया।

पिता के शव का पोस्टमार्टम रामनगर में हुआ तो बच्ची का काशीपुर में चिकित्सकों ने किया। देर शाम दोनों के शव घर लाए गए और रिश्तेदारों ने गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया। संतराम की पत्ना सविता का दस साल पहले निधन हो चुका है। संतराम के दो बेटे मनोज (14) और अमन (12) हैं। पीरूमदारा चौकी प्रभारी कविंद्र शर्मा ने बताया कि संतराम मेहनत मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करता था।

सार

  • ढलान में गिर रही कार से दो ने लगाई छलांग, तीसरा कार समेत खाई में गिरा
  • हिम्मतपुर ब्लॉक में हाईवे पर कार ने स्कूटी को मारी टक्कर, पिता बेटी की मौत

विस्तार

उत्तराखंड के नैनीताल में होली के दिन दो जगह दर्दनाक हादसे ने तीन लोगों की जान ले ली। कोटाबाग में होली का त्योहार मनाने गए तीन दोस्तों की कार खाई में गिर गई। दो दोस्त तो जान बचाने के लिए कार से कूद गए, जबकि तीसरा कार के साथ खाई में गिर गया। इसके बाद तीनों खाई से निकलकर अस्पताल पहुंचे, जहां एक की हालत गंभीर होने पर उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया और उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। 

मंगलवार को कोटाबाग निवासी देवेंद्र बिष्ट (50) पुत्र स्व. शिव सिंह अपने दो साथियों यशपाल बिष्ट और योगेश बिष्ट के साथ अपराह्न करीब तीन बजे कार (यूए 07एच 2267) से घूमने गए थे। कोटाबाग से तीन किमी ऊपर सानडा के पास बैंड में अचानक चालक ने कार से नियंत्रण खो दिया और कार 300 मीटर गहरी खाई में गिरने लगी। इसी समय देवेंद्र और यशपाल ने कार से छलांग लगा दी, जबकि योगेश कार के साथ खाई में गिर गया।

बचने की कोशिश में देवेंद्र बिष्ट को गुम चोटें आईं और यशपाल सिंह और योगेश भी जख्मी हो गए। इसके बाद तीनों दोस्त गांव की एक निजी गाड़ी से सीएचसी गए, जहां डॉक्टर सलीम अंसारी ने तीनों का इलाज किया। उन्होंने बताया कि यशपाल और योगेश खतरे से बाहर हैं, जबकि सिर में चोट के चलते देवेंद्र की सांस की नली में खाना फंसने से उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। देवेंद्र ने हल्द्वानी में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

देवेंद्र सिंह उनके दो बेटे और एक बेटी हैं और वह मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते थे। बुधवार को देवेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार किया गया। पहाड़ पट्टी पटवारी आशा सक्सेना ने बताया कि हादसे की लिखित सूचना मिलने पर मामले की जांच पड़ताल की जाएगी।


आगे पढ़ें

होली मिलन से लौट रहे पिता-पुत्री की हादसे में मौत

.(tagsToTranslate)Accident(t)accident in holi(t)uttarakhand news(t)accident in uttarakhand(t)road accident(t)car fell into ditch(t)death on holi(t)Dehradun News in Hindi(t)Latest Dehradun News in Hindi(t)Dehradun Hindi Samachar

[Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by News Uttarakhand. Publisher: Amar Ujala]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का एलान के बाद नोएडा प्राधिकरण ने उसको लेकर तैयारी भी शुरू कर दी है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का एलान के बाद नोएडा में फिल्म सिटी बनाने को लेकर शुरू...

जेल में चौंकाने वाला मामला सामने आया है.. कैदी ने मोबाइल पर बात करने के लिए ऐसी जगह छुपाया मोबाइल,अस्पताल में करना पड़ा...

राजस्थान की जोधपुर की सेंट्रल जेल में एक बहुत ही आश्चर्य करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक कैदी ने मोबाइल छिपाने के...

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है, BJP के 7 और कांग्रेस के 2 विधायक अब तक कोरोना से संक्रमित

विधानसभा के मॉनसून सत्र की अवधि नजदीक आते-आते कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है। अभी तक भाजपा के ही विधायक संक्रमित...

उत्तराखंड कोरोना अपडेट: राज्य में कोरोना के रिकॉर्ड 2078 नए मामले, कुल संख्या 40000 के पार, अब तक 478 की मौत

उत्तराखंड में शनिवार को पहली बार एक ही दिन में कोरोना के दो हजार से अधिक मरीज मिले। एक ही दिन में रिकार्ड 2078...

Recent Comments

Translate »