24.3 C
Dehradun
Monday, September 28, 2020
Home Uttarakhand News Uttarakhand: Emphasis Given On Giving Financial Assistance To Folk Artists

News Uttarakhand: Emphasis Given On Giving Financial Assistance To Folk Artists

ख़बर सुनें

चमोली नेहरू युवा केंद्र की ओर से उर्गम घाटी में जिला स्तरीय लोक सांस्कृतिक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में महिलाओं के समूह ने लोकनृत्य व लोकगीतों की शानदार प्रस्तुतियां दीं। महिलाओं के हिंवाली कांठे की मां नंदा, जौ जस देई गीत… की प्रस्तुति पर संपूर्ण उर्गम घाटी नंदामयी हो गई।
कार्यशाला का शुभारंभ पैनखंडा महिला परिषद की अध्यक्ष रमा भंडारी ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यशाला का शुभारंभ किया। कार्यशाला में महिला मंगल दल बामणी, पांडुकेश्वर, थैंणा, सलना, देवग्राम, बांसा, भेंटा, पिलखी, कर्णप्रयाग, गुलाबकोटी के साथ ही युवा मंडली की टीमों ने प्रतिभाग किया। युवा समन्वयक डा. योगेश धस्माना ने कहा कि लोक कलाओं के संरक्षण में युवा संस्कृति कर्मियों को आगे आना होगा और अपनी लोक गाथाओं को आजीविका से जोड़ना होगा। जनदेश के निदेशक लक्ष्मण सिंह नेगी ने कहा कि वर्तमान में लोक कलाकारों की स्थिति ठीक नहीं है। संस्कृति विभाग को लोक विधाओं का संरक्षण कर लोक कलाकारों को आर्थिक सहायता देनी चाहिए। महिला समूहों ने पारंपरिक गीत व नृत्य से चांचड़ी, जागर, पांडव और चौफला नृत्य की प्रस्तुति दी। इस मौके पर ब्लॉक प्रमुख हरीश परमार, पर्यावरण प्रेमी बोणी देवी, रघुवीर नेगी, गीता चौहान के साथ ही पंचायत प्रतिनिधि मौजूद थे।

चमोली नेहरू युवा केंद्र की ओर से उर्गम घाटी में जिला स्तरीय लोक सांस्कृतिक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में महिलाओं के समूह ने लोकनृत्य व लोकगीतों की शानदार प्रस्तुतियां दीं। महिलाओं के हिंवाली कांठे की मां नंदा, जौ जस देई गीत… की प्रस्तुति पर संपूर्ण उर्गम घाटी नंदामयी हो गई।

कार्यशाला का शुभारंभ पैनखंडा महिला परिषद की अध्यक्ष रमा भंडारी ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यशाला का शुभारंभ किया। कार्यशाला में महिला मंगल दल बामणी, पांडुकेश्वर, थैंणा, सलना, देवग्राम, बांसा, भेंटा, पिलखी, कर्णप्रयाग, गुलाबकोटी के साथ ही युवा मंडली की टीमों ने प्रतिभाग किया। युवा समन्वयक डा. योगेश धस्माना ने कहा कि लोक कलाओं के संरक्षण में युवा संस्कृति कर्मियों को आगे आना होगा और अपनी लोक गाथाओं को आजीविका से जोड़ना होगा। जनदेश के निदेशक लक्ष्मण सिंह नेगी ने कहा कि वर्तमान में लोक कलाकारों की स्थिति ठीक नहीं है। संस्कृति विभाग को लोक विधाओं का संरक्षण कर लोक कलाकारों को आर्थिक सहायता देनी चाहिए। महिला समूहों ने पारंपरिक गीत व नृत्य से चांचड़ी, जागर, पांडव और चौफला नृत्य की प्रस्तुति दी। इस मौके पर ब्लॉक प्रमुख हरीश परमार, पर्यावरण प्रेमी बोणी देवी, रघुवीर नेगी, गीता चौहान के साथ ही पंचायत प्रतिनिधि मौजूद थे।

.(tagsToTranslate)Assistance to folk artists

[Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by News Uttarakhand. Publisher: Amar Ujala]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का एलान के बाद नोएडा प्राधिकरण ने उसको लेकर तैयारी भी शुरू कर दी है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का एलान के बाद नोएडा में फिल्म सिटी बनाने को लेकर शुरू...

जेल में चौंकाने वाला मामला सामने आया है.. कैदी ने मोबाइल पर बात करने के लिए ऐसी जगह छुपाया मोबाइल,अस्पताल में करना पड़ा...

राजस्थान की जोधपुर की सेंट्रल जेल में एक बहुत ही आश्चर्य करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक कैदी ने मोबाइल छिपाने के...

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है, BJP के 7 और कांग्रेस के 2 विधायक अब तक कोरोना से संक्रमित

विधानसभा के मॉनसून सत्र की अवधि नजदीक आते-आते कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है। अभी तक भाजपा के ही विधायक संक्रमित...

उत्तराखंड कोरोना अपडेट: राज्य में कोरोना के रिकॉर्ड 2078 नए मामले, कुल संख्या 40000 के पार, अब तक 478 की मौत

उत्तराखंड में शनिवार को पहली बार एक ही दिन में कोरोना के दो हजार से अधिक मरीज मिले। एक ही दिन में रिकार्ड 2078...

Recent Comments

Translate »