24.3 C
Dehradun
Monday, September 21, 2020
Home Uttarakhand News Uttarakhand: 'government To Obey Supreme Court Order'

News Uttarakhand: ‘government To Obey Supreme Court Order’

ख़बर सुनें

रुड़की। प्रमोशन में आरक्षण खत्म करने और जनरल ओबीसी कर्मचारियों की पदोन्नति से रोक हटाने की मांग को लेकर उत्तराखंड जनरल ओबीसी एंप्लाइज एसोसिएशन ने सिंचाई विभाग के नलकूप खंड के सभागार में आंदोलन को तेज करने की हुंकार भरी। इस दौरान आरपार की लड़ाई का एलान किया गया। इस दौरान एसोसिएशन के प्रांतीय प्रतिनिधियों ने भी आंदोलन को तेज करने के लिए कर्मचारियों से आह्वान किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राजेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों को राज्य में लागू नहीं करती है तो जनरल ओबीसी एंप्लाइज एसोसिएशन जोर शोर से आंदोलन जारी रखेगी। कहा कि आंदोलन दिनोंदिन तेज हो रहा है। बृहस्पतिवार से आकस्मिक सेवाओं के कर्मचारी भी हड़ताल में शामिल हो जाएंगे। इससे आकस्मिक सेवाएं भी प्रभावित होंगी। कहा कि प्रदेश सरकार जनरल ओबीसी कर्मचारियों के सब्र की परीक्षा ले रही है। बृहस्पतिवार यानी आज रुड़की में धरना दे रहे सभी कर्मचारी हरिद्वार पहुंचेंगे, वहां पर मांगों को मनवाने के लिए मशाल जुलूस निकालेंगे। कर्मचारी मांगे मानने के बाद ही बैठेंगे। कर्मचारियों को आंदोलन स्थल तक लाने के लिए दो टीमों का गठन किया गया है, जो जनरल ओबीसी कर्मचारी आंदोलन में शामिल नहीं होंगे उनको फूल माला पहनाकर नसीहत दी जाएगी। आंदोलन को तेज करने के लिए एंप्लाइज एसोसिएशन की प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्य राजेंद्र सिंह चौहान, अरुण पांडे, बनवारी रावत, वीके धस्माना, पूर्णानंद नौटियाल आदि ने आह्वान किया। आंदोलन में सिंचाई विभाग, लोनिवि, ग्राम्य विकास विभाग, कोषागार, कृषि विभाग, बाल विकास परियोजना विभाग आदि विभागों से अधिकारी और कर्मचारी शामिल रहे।
ये कर्मचारी आंदोलन में रहे उपस्थित
अनिल चौधरी, मनोज नवानी, कुलदीप बिष्ट, उदल मिश्र, सुदेश भटनागर, मधुकर जैन, आलोक कुमार, योगेश शर्मा, मोहम्मद कामिल, मुनेश कुमार, प्रदीप प्रजापति, प्रियंक कुमार त्यागी, ईश्वर दत्त, श्यामवीर सिंह, आलोक सैनी, विशाल रस्तोगी, अंकित कुमार, संजीव कुमार, इरशाद अली, राजू, शशिकांत, सुभाष अग्रवाल, अमित खटाना, अमरदीप, भगवती प्रसाद कुकरेती, सुलेमान, आशीष वर्मा, योगेश तायल, विवेक कुमार, लव कुुमार, विनय कुमार सैनी, शोभित, नवीन चौहान, मोबीन, चंद्रमोहन बहुगुणा, रविंद्र सिंह, तरुण कुमार, महाराज सिंह अदि उपस्थित थे।
आज से प्रभावित हो सकती हैं व्यवस्थाएं
आज से आकस्मिक सेवाओं के कर्मचारियों के आंदोलन में शामिल होने से अस्पताल और पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था भी प्रभावित हो सकती है। आंदोलन में सरकारी अस्पतालों के वार्ड ब्याय और अन्य कर्मचारी भी शामिल होंगे। जबकि अस्पतालों के लिपिक संवर्ग के कर्मचारी पहले से ही आंदोलन में शामिल हैं। वहीं जल संस्थान के कर्मचारियों के आंदोलन में शामिल होने से पेयजल आपूर्ति भी प्रभावित हो सकती है।

रुड़की। प्रमोशन में आरक्षण खत्म करने और जनरल ओबीसी कर्मचारियों की पदोन्नति से रोक हटाने की मांग को लेकर उत्तराखंड जनरल ओबीसी एंप्लाइज एसोसिएशन ने सिंचाई विभाग के नलकूप खंड के सभागार में आंदोलन को तेज करने की हुंकार भरी। इस दौरान आरपार की लड़ाई का एलान किया गया। इस दौरान एसोसिएशन के प्रांतीय प्रतिनिधियों ने भी आंदोलन को तेज करने के लिए कर्मचारियों से आह्वान किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राजेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों को राज्य में लागू नहीं करती है तो जनरल ओबीसी एंप्लाइज एसोसिएशन जोर शोर से आंदोलन जारी रखेगी। कहा कि आंदोलन दिनोंदिन तेज हो रहा है। बृहस्पतिवार से आकस्मिक सेवाओं के कर्मचारी भी हड़ताल में शामिल हो जाएंगे। इससे आकस्मिक सेवाएं भी प्रभावित होंगी। कहा कि प्रदेश सरकार जनरल ओबीसी कर्मचारियों के सब्र की परीक्षा ले रही है। बृहस्पतिवार यानी आज रुड़की में धरना दे रहे सभी कर्मचारी हरिद्वार पहुंचेंगे, वहां पर मांगों को मनवाने के लिए मशाल जुलूस निकालेंगे। कर्मचारी मांगे मानने के बाद ही बैठेंगे। कर्मचारियों को आंदोलन स्थल तक लाने के लिए दो टीमों का गठन किया गया है, जो जनरल ओबीसी कर्मचारी आंदोलन में शामिल नहीं होंगे उनको फूल माला पहनाकर नसीहत दी जाएगी। आंदोलन को तेज करने के लिए एंप्लाइज एसोसिएशन की प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्य राजेंद्र सिंह चौहान, अरुण पांडे, बनवारी रावत, वीके धस्माना, पूर्णानंद नौटियाल आदि ने आह्वान किया। आंदोलन में सिंचाई विभाग, लोनिवि, ग्राम्य विकास विभाग, कोषागार, कृषि विभाग, बाल विकास परियोजना विभाग आदि विभागों से अधिकारी और कर्मचारी शामिल रहे।
ये कर्मचारी आंदोलन में रहे उपस्थित
अनिल चौधरी, मनोज नवानी, कुलदीप बिष्ट, उदल मिश्र, सुदेश भटनागर, मधुकर जैन, आलोक कुमार, योगेश शर्मा, मोहम्मद कामिल, मुनेश कुमार, प्रदीप प्रजापति, प्रियंक कुमार त्यागी, ईश्वर दत्त, श्यामवीर सिंह, आलोक सैनी, विशाल रस्तोगी, अंकित कुमार, संजीव कुमार, इरशाद अली, राजू, शशिकांत, सुभाष अग्रवाल, अमित खटाना, अमरदीप, भगवती प्रसाद कुकरेती, सुलेमान, आशीष वर्मा, योगेश तायल, विवेक कुमार, लव कुुमार, विनय कुमार सैनी, शोभित, नवीन चौहान, मोबीन, चंद्रमोहन बहुगुणा, रविंद्र सिंह, तरुण कुमार, महाराज सिंह अदि उपस्थित थे।
आज से प्रभावित हो सकती हैं व्यवस्थाएं
आज से आकस्मिक सेवाओं के कर्मचारियों के आंदोलन में शामिल होने से अस्पताल और पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था भी प्रभावित हो सकती है। आंदोलन में सरकारी अस्पतालों के वार्ड ब्याय और अन्य कर्मचारी भी शामिल होंगे। जबकि अस्पतालों के लिपिक संवर्ग के कर्मचारी पहले से ही आंदोलन में शामिल हैं। वहीं जल संस्थान के कर्मचारियों के आंदोलन में शामिल होने से पेयजल आपूर्ति भी प्रभावित हो सकती है।

.(tagsToTranslate)Promotion1

[Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by News Uttarakhand. Publisher: Amar Ujala]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

जेल में चौंकाने वाला मामला सामने आया है.. कैदी ने मोबाइल पर बात करने के लिए ऐसी जगह छुपाया मोबाइल,अस्पताल में करना पड़ा...

राजस्थान की जोधपुर की सेंट्रल जेल में एक बहुत ही आश्चर्य करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक कैदी ने मोबाइल छिपाने के...

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है, BJP के 7 और कांग्रेस के 2 विधायक अब तक कोरोना से संक्रमित

विधानसभा के मॉनसून सत्र की अवधि नजदीक आते-आते कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है। अभी तक भाजपा के ही विधायक संक्रमित...

उत्तराखंड कोरोना अपडेट: राज्य में कोरोना के रिकॉर्ड 2078 नए मामले, कुल संख्या 40000 के पार, अब तक 478 की मौत

उत्तराखंड में शनिवार को पहली बार एक ही दिन में कोरोना के दो हजार से अधिक मरीज मिले। एक ही दिन में रिकार्ड 2078...

प्राइवेट अस्पताल से रूठ, सात घंटे बाद सिनर्जी में हुई भर्ती नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश

कोरेाना के उपचार के लिए हल्द्वानी से देहरादून आईं नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश। दोपहर तीन बजे से रात करीब सवा दस दस बजे...

Recent Comments

Translate »