24.3 C
Dehradun
Tuesday, September 29, 2020
Home Uttarakhand Reservation In Promotion: Employees Not Play Holi, Protest Will High Soon...

[News Uttarakhand:] Reservation In Promotion: Employees Not Play Holi, Protest Will High Soon – प्रमोशन में आरक्षण: होली के बाद आक्रामक होगा आंदोलन, मंत्री-विधायकों के घेराव की तैयारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Updated Mon, 09 Mar 2020 02:50 AM IST

कर्मचारियों का प्रदर्शन
– फोटो : फाइल फोटो

ख़बर सुनें

उत्तराखंड में होली के बाद प्रमोशन में आरक्षण के खिलाफ जारी आंदोलन आक्रामक रुख अख्तियार करेगा। जनपदों के स्तर पर सत्तारूढ़ भाजपा के सांसदों और विधायकों के घेराव हो रहे हैं। होली के बाद घेराव की यह मुहिम जोर पकड़ेगी। उत्तराखंड जनरल ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन के संयोजक मंडल की आपात बैठक में यह निर्णय लिया गया। अपील और घेराव की मुहिम के तहत भाजपा के चार विधायक आंदोलन के समर्थन में खुलकर आ चुके हैं। उन्होंने एसोसिएशन के समर्थन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र लिखा है।

एसोसिएशन के प्रदेश प्रवक्ता विनोद धस्माना के मुताबिक, दो मार्च से जनरल ओबीसी बेमियादी हड़ताल पर हैं। आंदोलन में जनरल ओबीसी कर्मचारियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। सचिवालय से लेकर जिला मुख्यालयों, ब्लाकों और तहसीलों तक में कामकाज पूरी तरह से ठप है। 11 मार्च से अति आवश्यक सेवाओं को ठप करने के विकल्प पर भी बहुत गंभीरता से विचार हो रहा है।

इन विधायकों ने किया समर्थन
अब तक भाजपा के चार विधायक खुलकर आंदोलन का समर्थन कर चुके हैं। रायपुर के भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ और मसूरी के विधायक गणेश जोशी सबसे पहले पक्ष में आए थे और उन्होंने सीएम को पत्र लिखा। लैंसडाउन के विधायक दिलीप सिंह रावत ने भी आंदोलन के समर्थन में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा। रुद्रप्रयाग के विधायक भरत चौधरी ने घेराव के  बाद समर्थन किया। उधर, नैनीताल के सांसद अजय भट्ट ने भी इस संबंध में मुख्यमंत्री से वार्ता करने की बात कही।

होली नहीं मनाएंगे
एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष दीपक जोशी ने कहा कि जनरल ओबीसी कर्मचारी सरकार की हठधर्मिता विरोध में इस बार होली नहीं मनाएंगे। होली के बाद एसोसिएशन नई और धारदार रणनीति के साथ मैदान में उतरेगी। जोशी के मुताबिक, आंदोलन को तोड़ने की तमाम साजिशों के बावजूद प्रदेश का जनरल ओबीसी कर्मचारी पूरी एकजुटता के साथ आंदोलन को कामयाबी के मुकाम तक पहुंचाने को बेताब है।

अखिल भारतीय समानता मंच ने एससी एसटी प्रिवेशन ऑफ एस्ट्रोसिटी एक्ट के तहत बेमियादी हड़ताल में शामिल जनरल ओबीसी कर्मचारियों पर झूठे केस दर्ज कराने की आशंका जाहिर की है। मंच ने राज्यपाल और मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है और उनसे ऐसे मामलों में जांच के बाद ही केस दर्ज करने का अनुरोध किया है।

मंच के राष्ट्रीय सचिव एलपी रतूड़ी, प्रांतीय अध्यक्ष श्याम लाल शर्मा व प्रांतीय महासचिव जगदीश प्रसाद कुकरेती ने पत्र में कहा है कि एससी एसटी एक्ट में बिना जांच के गिरफ्तारी की जो व्यवस्था दी गई है, वह अनुचित व अन्यायपूर्ण है। प्रदेश में सर्वोच्च न्यायालय ने सात फरवरी को प्रमोशन में आरक्षण न दिए जाने संबंध में आंदोलन किया जा रहा है।

ऐसे हालातों में कुछ शरारती तत्व निजी स्वार्थ से दूसरे पक्ष के मध्य भ्रम की स्थिति पैदा कर व कटुता को बढ़ाकर आंदोलन के शांतिपूर्ण माहौल को खराब करना चाहते हैं। इस बात की प्रबल संभावना है कि एससी एसटी प्रिवेशन ऑफ एस्ट्रोसिटी एक्ट के तहत जनरल ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन के पदाधिकारियों व सदस्यों पर झूठे मुकदमे दर्ज कराए जाएंगे। इसका प्रभाव पूरे देश पर पड़ेगा। इससे सामाजिक ताने बाने के छिन्न भिन्न होने का खतरा भी पैदा हो जा जाएगा। इसलिए ऐसे मामलों में उचित जांच में अपराध सही पाए जाने पर केस दर्ज किया जाए।

सार

  • अब तक मांग के समर्थन में भाजपा के चार विधायक लिख चुके हैं मुख्यमंत्री को पत्र

विस्तार

उत्तराखंड में होली के बाद प्रमोशन में आरक्षण के खिलाफ जारी आंदोलन आक्रामक रुख अख्तियार करेगा। जनपदों के स्तर पर सत्तारूढ़ भाजपा के सांसदों और विधायकों के घेराव हो रहे हैं। होली के बाद घेराव की यह मुहिम जोर पकड़ेगी। उत्तराखंड जनरल ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन के संयोजक मंडल की आपात बैठक में यह निर्णय लिया गया। अपील और घेराव की मुहिम के तहत भाजपा के चार विधायक आंदोलन के समर्थन में खुलकर आ चुके हैं। उन्होंने एसोसिएशन के समर्थन में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र लिखा है।

एसोसिएशन के प्रदेश प्रवक्ता विनोद धस्माना के मुताबिक, दो मार्च से जनरल ओबीसी बेमियादी हड़ताल पर हैं। आंदोलन में जनरल ओबीसी कर्मचारियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। सचिवालय से लेकर जिला मुख्यालयों, ब्लाकों और तहसीलों तक में कामकाज पूरी तरह से ठप है। 11 मार्च से अति आवश्यक सेवाओं को ठप करने के विकल्प पर भी बहुत गंभीरता से विचार हो रहा है।

इन विधायकों ने किया समर्थन
अब तक भाजपा के चार विधायक खुलकर आंदोलन का समर्थन कर चुके हैं। रायपुर के भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ और मसूरी के विधायक गणेश जोशी सबसे पहले पक्ष में आए थे और उन्होंने सीएम को पत्र लिखा। लैंसडाउन के विधायक दिलीप सिंह रावत ने भी आंदोलन के समर्थन में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा। रुद्रप्रयाग के विधायक भरत चौधरी ने घेराव के  बाद समर्थन किया। उधर, नैनीताल के सांसद अजय भट्ट ने भी इस संबंध में मुख्यमंत्री से वार्ता करने की बात कही।

होली नहीं मनाएंगे
एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष दीपक जोशी ने कहा कि जनरल ओबीसी कर्मचारी सरकार की हठधर्मिता विरोध में इस बार होली नहीं मनाएंगे। होली के बाद एसोसिएशन नई और धारदार रणनीति के साथ मैदान में उतरेगी। जोशी के मुताबिक, आंदोलन को तोड़ने की तमाम साजिशों के बावजूद प्रदेश का जनरल ओबीसी कर्मचारी पूरी एकजुटता के साथ आंदोलन को कामयाबी के मुकाम तक पहुंचाने को बेताब है।


आगे पढ़ें

एस्ट्रोसिटी के एक्ट में झूठे केस दर्ज करने की जताई आशंका

.(tagsToTranslate)Reservation in promotion(t)uttarakhand cm trivendra singh rawat(t)supreme court(t)trivendra singh rawat(t)प्रमोशन में आरक्षण(t)reservation(t)promotion(t)sc-st employees(t)general obc employees(t)Dehradun News in Hindi(t)Latest Dehradun News in Hindi(t)Dehradun Hindi Samachar

[Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by News Uttarakhand. Publisher: Amar Ujala]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का एलान के बाद नोएडा प्राधिकरण ने उसको लेकर तैयारी भी शुरू कर दी है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का एलान के बाद नोएडा में फिल्म सिटी बनाने को लेकर शुरू...

जेल में चौंकाने वाला मामला सामने आया है.. कैदी ने मोबाइल पर बात करने के लिए ऐसी जगह छुपाया मोबाइल,अस्पताल में करना पड़ा...

राजस्थान की जोधपुर की सेंट्रल जेल में एक बहुत ही आश्चर्य करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक कैदी ने मोबाइल छिपाने के...

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है, BJP के 7 और कांग्रेस के 2 विधायक अब तक कोरोना से संक्रमित

विधानसभा के मॉनसून सत्र की अवधि नजदीक आते-आते कोरोना संक्रमित विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है। अभी तक भाजपा के ही विधायक संक्रमित...

उत्तराखंड कोरोना अपडेट: राज्य में कोरोना के रिकॉर्ड 2078 नए मामले, कुल संख्या 40000 के पार, अब तक 478 की मौत

उत्तराखंड में शनिवार को पहली बार एक ही दिन में कोरोना के दो हजार से अधिक मरीज मिले। एक ही दिन में रिकार्ड 2078...

Recent Comments

Translate »